साइलेंट हार्ट अटैक क्या होता है? जिसने ले ली ‘श्रीदेवी’ की जान, जानिए कैसे बच सकते हैं आप

65
Silent Heart Attack

साइलेंट हार्ट अटैक (Silent Heart Attack) को मेडिकल साइंस की भाषा में कार्डिएक अरेस्ट (Cardiac arrest) कहा जाता है। सामान्य हार्ट अटैक से ज्यादा खतरनाक समझा जाता है क्योंकि आम हार्ट अटैक की तरह इसमें सीने में तेज दर्द और जलन नहीं होती है। नाम की तरहयह साइलेंट होता है और इसमें रोगी बाहर से ठीक लगता है। हार्ट अटैक इसलिए होता है क्योंकि हार्ट तक ब्लड पहुंचाने वाली धमनियों में वसा के थक्के जम जाते हैं जिससे ये ब्लड को उस तक नहीं पहुंचा पाते। साइलेंट हार्ट अटैक से होने वाली 25% मौत रक्त थक्के के फट जने से होती है।

साइलेंट हार्ट अटैक क्या है ? Silent Heart Attack

हमारे दिल से जो धक-धक कि आवाज आती है उसकी वजह इसमें होने वाली पंपिग है। पंपिग से ही हमारे शरीर के सारे हिस्सों तक खून पहुंचता है। लेकिन, अब सोचिए कि किसी वजह से ये पंपिंग बंद हो जाये तो क्या होगा। जी हां, आपने सही सोचा अगर ये पंपिग बंद हो जायेगी तो हमारे शरीर के हिस्सों को खून की सप्लाई बंद हो जायेगी। अगर हमारे शरीर में खून हर हिस्से तक न पहुंचे तो इंसान की मौत हो जाती है। मेडिकल साइंस की भाषा में इसे ही कार्डिएक अरेस्ट कहा जाता है। अब तो आप समझ ही गए होंगे की कार्डिएक अरेस्ट क्या है।

कार्डिएक अरेस्ट में आदमी तुरंत गिर जाता है। इस दौरान तो उसकी धड़कनें सुनाई देती हैं और न ही वह सांस लेता है। कार्डिएक अरेस्ट के आने पर सीने में दर्द, सांस लेने में दिक्कत, कमजोरी या उल्टी महसूस होता है। लेकिन, कार्डिएक अरेस्ट इसलिए बेहद खतरनाक है कि इसका अंदाजा किसी को नहीं होता। पहले से इसके कोई लक्षण दिखाई नहीं देते हैं। इसीलिए इसे साइलेंट किलर भी कहा जाता है।

साइलेंट हार्ट अटैक से बचाव कैसे करें ? Silent Heart Attack

अगर किसी को लगातार सीने में दर्द हो रहा है तो आप तुरंत किसी डॉक्टर से सलाह लें। इसके अलावा, सांस लेने में दिक्कत, कमजोरी या उल्टी महसूस हो रही है तो भी आप डॉक्टर को दिखा लें। ये सभी आपके दिल में कुछ न कुछ गड़बड़ी होने के संकेत हैं। कार्डिएक अरेस्ट का खतरा उन लोगों में ज्यादा होता है जो हार्ट पेशेंट, हाई ब्लड प्रेशर और हाई कोलेस्ट्राल के मरीज हैं। कार्डिएक अरेस्ट से पूरी तरह से बचने का अभी तक कोई इलाज सामने नहीं आया है।

कार्डिएक अरेस्ट से बचने के लिए आप अपनी जीवन शैली औऱ खानपान के तरीके में सुधार कर सकते हैं। इसके अलावा, स्मोकिंग और एल्कोहल का सेवन भी बंद करना इससे बचने का तरीका होता है। तो अब आप कार्डिएक अरेस्ट क्या है? और इसके लक्षण व बचाव के तरीके तो आप जान गये होंगे।

आपको बता दें कि कार्डिएक अरेस्ट (Silent Heart Attack) की वजह से ही श्रीदेवी का निधन हो चुका है। बॉलीवुड एक्ट्रेस श्रीदेवी की मौत इतनी अचानक हुई की किसी को कुछ समझ ही नहीं आया। उन्हें भी अचानक कार्डिएक अरेस्ट आया और वो बेहोश हो गई और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया।

नोट : इन्‍हें आजमाने और अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।