पेट के बल सोने वाले हो जाए सावधान, शायद आपकी जिंदगी बच जाए !

51
sleeping on your stomach

पेट के बल सोने वाले हो जाए सावधान, शायद आपकी जिंदगी बच जाए !

Sleeping On Your Stomach – ज़्यादातर लोगों को पेट के बल सोने की आदत होती है। ऐसे लोग इस तरह से सोने की आदत के दुष्परिणामों के बारे में अनजान रहते हैं, और अपने स्वास्थ्य को जोखिम में डाल देते हैं। इस आदत से सबसे पहले व्यक्ति की पाचन शक्ति पर असर होता है। पेट के बल सोने से व्यक्ति को कई तरह की बीमारियाँ होने लगती हैं. आज हम आपको बताते हैं कि पेट के बल सोने क्या क्या नुकसान होते हैं।

पीठ पर बुरा असर – आपको जानकर हैरानी होगी कि पेट के बल सोने से आपके जोड़ों में दर्द, गर्दन में दर्द और पीठ में दर्द आदि हो सकता हैं। जिसकी वजह से आपकी नींद पूरी नहीं हो पाती और आप अगले पूरे दिन थकान महसूस करते रहते हैं।

स्पाइन पर खिंचाव – पेट के बल सोने से स्पाइन पर बहुत ज्यादा खिंचाव और दबाव पड़ता है। स्पाइन एक पाइपलाइन की तरह काम करता है जिससे शरीर के बाकी हिस्सों में सुन्न जैसी स्थिति हो जाती है और आपके पूरे शरीर में दर्द होने लगता है।

स्तनों का आकार बिगड़ जाता है – कई लोग पेट के बल सोते हैं। ऐसे सोने से स्तनों का आकार बिगड़ जाता है। इस पर हुई एक शोध जर्नल एलजेविअर में प्रकाशित भी हो चुकी है कि, पेट के बल सोने (Sleeping On Your Stomach) पर स्तन काफी देर गद्दे से दबे रहते हैं जिस कारण स्तनों के लिग्मेंट्स खिंच जाते हैं।

sleeping on your stomach

गर्दन में दर्द – पेट के बल सोने की वजह से आपका सिर और आपकी स्पाइन एक सीध में नहीं रहती जिसकी वजह से आपकी गर्दन में दिक्कत हो सकती है। जिसका नाम ‘हर्नियेटेड डिस्क’ हैं। इसमें आपकी स्पाइन शिफ्ट कर जाती है जिससे अन्दर वाले जिलेटिनस डिस्क में दिक्कत हो जाती है। जिसकी वजह से व्यक्ति के पूरे नर्व में दर्द महसूस होने लगता है।

जोड़ों के दर्द की समस्या – पेट के बल सोने (Sleeping On Your Stomach) से शरीर की हड्डियों पर भी प्रतिकूल असर होता है। ऐसा करने से जोड़ों तथा हड्डियों में दर्द की शिकायत होने लगती है।

सिरदर्द का होना – पेट के बल सोने (Sleeping On Your Stomach) से गर्दन एक तरफ़ मुड़ जाती है। इससे सिर में खून की आपूर्ति में कमी आती है और सिरदर्द होने लगता है।

कमर में दर्द का होना – पेट के बल सोने से कमर में दर्द होता है क्योंकि इस तरह से सोने से आपके रीढ़ की हड्डी सामान्य आकर में नही रह पाती।

sleeping on your stomach

मांसपेशियों में ऐंठन और दर्द का होना – मांसपेशियों में ऐंठन और दर्द का होने की मुख्य वजह पेट के बल सोना है क्योकि इससे खुन का संचार ठीक से न हो पाना है।

पाचन क्रिया में बाधा – पेट के बल सोने (Sleeping On Your Stomach) से पाचन क्रिया पर प्रतिकूल असर पड़ता है। अगर आपको पाचन सम्बन्धी कोई भी शिकायत है तो आप पेट के बल सोने की गलती न करें।

चेहरे की त्वचा पर बुरा असर – पेट के बल सोने से चेहरे का एक हिस्सा दबा रह जाता है, जिससे इसे पर्याप्त ऑक्सीजन नही मिल पाती। ऐसे में झुरियों और मुहांसे के समस्या होने लगती हैं।